मुकेश सहनी ने कहा, बिहार और यूपी में किसी को हमारी फिक्र नहीं, केंद्र सरकार पर भी साधा निशाना।

विकासशील इंसान पार्टी के संस्थापक और मंत्री मुकेश सहनी ने कहा है कि भाजपा के बड़े-बड़े नेता चुनावी प्रचार के दौरान यूपी में आकर रामराज की चर्चा कर रहे हैं, लेकिन उन्हें नहीं पता कि निषाद चर्चा बिना रामराज अधूरा है।

सहनी बुधवार को यूपी के औराई विधानसभा क्षेत्र की प्रत्याशी बबिता बेल्दौर और केराकत विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशी पप्पू भारती के समर्थन में चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे थे। सहनी ने सभा में कहा त्रेतायुग के रामराज में भगवान राम की मदद करने में निषादों की भूमिका सराही गई थी, लेकिन वर्तमान में भाजपा ने निषाद समाज को हाशिये पर छोड़ दिया है। अंग्रेजों ने भी मल्लाहों को अपराधी बताकर प्रताड़‍ित किया। नतीजा आजादी के बाद भी ये उस रफ्तार से आगे नहीं बढ़ पाए जिस रफ्तार से अन्य जातियां आगे बढ़ी
उन्होंने कहा कई राज्य इनके विकास के लिए कदम उठा रहे हैं, लेकिन बिहार-यूपी में इनके बारे में कोई नहीं सोच रहा। बिहार सरकार ने मल्लाह जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने का प्रस्ताव केंद्र को दिया है लेकिन वे कुंडली मार का प्रस्ताव पर बैठ गए हैं। इधर पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता देवज्योति ने कहा सहनी निषाद समाज के लिए मंत्री तक की कुर्सी छोड़ने को तैयार हैं। उन्होंने अपील की निषाद आरक्षण के लिए लोग सहनी के हाथों को मजबूत करें।

गौरतलब है कि बिहार में एनडीए में शामिल वीआइपी और जदयू यूपी में अकेले चुनाव लड़ रहे हैं। यूपी में जदयू के एक प्रत्‍याशी को मुकेश सहनी ने समर्थन भी दिया है। बताया जाता है कि उनकी जीत के लिए वे चुनावी स्‍भाएं कर रह हैं। कुल मिलाकर देखा जाए तो एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा। ऐसे में 10 मार्च को चुनाव परिणाम आने के बाद बिहार की सियासत में नई तस्‍वीर दिख सकती है।