हरियाणा रोडवेज में कटेगा अब मशीन से टिकट, यात्रियों को मिलेगा फायदा।

हरियाणा रोडवेज के घाटे में है. ये बात किससे छुपी है. शायद किसी से नहीं. क्योंकि हरियाणा रोडवेज से कमाई सिर्फ एक हजार करोड़ की है. जबकि खर्चा 1900 करोड़ का है. ऐसे में कहा जा सकता है कि हरियाणा रोडवेज से आमदनी अट्ठनी और खर्चा रुपये वाला सिस्टम है. लेकिन अब हरियाणा सरकार इस सिस्टम को बदलने जा रही है. प्रधान सचिव नवदीप सिंह विर्क ने हरियाणा रोडवेज को चमकाने की तैयारी शुरू कर दी है.

आपको इस बात की तो जानकारी होगी ही कि अब तक हरियाणा रोडवेज में मैनुअल टिकट काटा जाता था. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. विभाग की योजना के मुताबिक अब टिकट मशीन से कांटे जाएंगे. रोडवेज विभाग का दावा है कि इस सिस्टम को लागू करने से करीब 50 करोड़ की राजस्व चोरी रूक जाएगी. इसके साथ ही बस अड्डों पर खराब पड़ी जमीन को आउटलेट खोलने और अन्य सुविधाओं के लिए लीज पर दिया जाएगा. इससे यात्रियों को 24 घंटे सुविधा मिलेगी.

हरियाणा रोडवेज विभाग के मुताबिक सरकारी बसों में 42 श्रेणियों के यात्री सफर करते हैं. नवदीप विर्क ने बताया कि सीएम और परिवहन मंत्री के साथ हुई मीटिंग में ये बात रखी गई थी कि जो लोग मुफ्त में यात्रा करते हैं. उनका विभाग रोडवेज को पैसे दें. क्योंकि रोडवेज विभाग की कमाई कम है और लागत ज्यादा है.

आपको बता दें कि अब तक फ्री में यात्रा करने वाले यात्रियों का मैनुअल रिकार्ड रखा जाता था. लेकिन एनएमसी लागू होने के बाद यात्रा का पूरा रिकार्ड मशीन में रखा जाएगा. ताकि ये जानकारी भी मिल सके कि संबंधित विभाग का व्यक्ति कितना सफर करता है.