दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी पढ़ेंगे बच्चे, सरकार ने ब्रिटिश काउंसिल के साथ की पार्टनरशिप

दिल्ली सरकार शिक्षा को लेकर बेहद गंभीर है. शिक्षा की दृष्टि से राजधानी दिल्ली के सरकारी स्कूल काबिल-ए-तारीफ है. अब दिल्ली सरकार स्कूलों बच्चों को इंग्लिश के साथ-साथ कला भी सिखाएगी. इसके लिए दिल्ली सरकार ने ब्रिटिश काउंसिल के साथ अपनी पार्टनरशिप को 3 साल के लिए बढ़ा दिया है. इससे दिल्ली के युवाओं के लिए वैश्विक अवसर पैदा होंगे.
खेल शिक्षा को भी बढ़ावा

दिल्ली सरकार ने ब्रिटिश काउंसिल के साथ 3 साल की पार्टनरशिप बढ़ाई है. साथ ही प्रीमियर लीग प्राइमरी स्टार्स प्रोजेक्ट की भी शुरुआत की है. ताकि बच्चे स्कूली शिक्षा के साथ-साथ खेल भी सीख सके. इस प्रोजेक्ट के जरिए एजुकेशनल डेवलपमेंट के लिए फुटबॉल के बेस्ट प्रैक्टिसेज की समझ बढ़ाने के साथ स्कूल के कोचों और टीचर्स को भी प्रशिक्षित किया जाएगा.

स्टूडेंट्स बनेंगे ग्लोबल सिटीजन

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, दिल्ली सरकार का लक्ष्य इको-सिस्टम बनाना है. जो सभी वर्गों के छात्रों और युवाओं को बेहतर शिक्षा और सोशल मोबिलिटी के अवसरों तक पहुंचने में सक्षम बनाता है. ताकि युवाओं को सही मायने में ग्लोबल सिटीजन बनाया जा सके.

आपको बता दे कि दिल्ली सरकार ने पहले भी ब्रिटिश काउंसिल के साथ ‘दिल्ली स्पोकन इंग्लिश प्रोजेक्ट’ पर काम कर चुकी है. दिल्ली सरकार के इस प्रोजेक्ट को अंतराष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिल चुकी है. इस प्रॉजेक्ट की सफलता को देखते हुए अब दिल्ली सरकार दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, टीचर्स यूनिवर्सिटी और स्कूलों में चले रहे पहलों में नए इनोवेशन अपनाने के लिए यूके के साथ काम करेगी. ताकि बच्चों के भविष्य को संवारा जा सके.