दिल्ली में अब बस स्टैंड पर नहीं करना होगा इंतजार, DTC के बेड़े में शामिल हुई 100 नई बसें

देश की राजधानी दिल्ली में कनेक्टिविटी के लिए बसें भी एक अहम योगदान निभा रही है. दिल्लीवासियों को बसों का इंतजार ना करना पड़े इसके लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट के बेड़े में 100 बसें और शामिल की है. अब राजधानी में कुल बसों की संख्या 7 हजार हो गई है. जानकारी के मुताबिक ये 100 बसें सीएनजी से चलने वाली हैं. साथ ही लो-फ्लोर, एसी सीएनजी बसें क्लस्टर योजना शामिल की गई हैं.

आपको बता दें कि दिल्ली में दूसरी इलेक्ट्रिक बस भी सोमवार से दिल्ली परिवहन निगम के बेड़े में शामिल हो गई है. यहां आपको ये भी बताना जरूरी है कि जनवरी तक दिल्ली परिवहन के पास 6,900 बसों थी. अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 100 एसी सीएनजी बसों को हरी झंडी दे दी है.

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि सोमवार को 100 एसी सीएनजी बसों को सीएम केजरीवाल ने हरी झंडी दिखाई है. इसके साथ ही टाटा मोटर्स की दूसरी प्रोटोटाइप इलेक्ट्रिक बस भी लॉन्च हो रही है. जो कि दिल्ली की पहली ई-बस रूट नंबर ई-44 पर संचालित की जा रही है. ये सर्कुलर बस सेवा डीटीसी के इंद्रप्रस्थ डिपो से शुरू और समाप्त होगी.

आपको बता दें कि भविष्य में दिल्ली सरकार 2000 इलेक्ट्रिक बसें शामिल करने की योजना बना रही है. ये नई बसें शून्य टेलपाइप उत्सर्जन के साथ 100 फिसदी इलेक्ट्रिक होंगी.