स्वास्थ्य मंत्रालय की चेतावनी, कोरोना के थर्ड वेव को हम खुद ही दे रहे आमंत्रण

बीते कई दिनो से एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें मसूरी के केम्पटी फॉल में सैकड़ों पर्यटकों की भीड़ नज़र आ रही है. ऐसी स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपना वाक्य देते हुए कहा कि ,क्या हम ये ठीक कर रहे हैं? क्या यह कोविड 19 वायरस को सीधा निमंत्रण नहीं है कि आओ हमें संक्रमित करो.उन्होंने यह भी कहा कि भारत में कोविड संक्रमण के मामले लगातार घट रहे हैं, जबकि रिकवरी के मामले बढ़ रहे हैं. अब यह देखा जा रहा है कि संक्रमण के मामले कुछ खास हिस्सों तक ही सीमित रह गये हैं. अभी कोरोना संक्रमण के आधे केस सिर्फ दो राज्यों से सामने आ रहे हैं.कोरोना नियमों का अभी भी सख़्ती से पालन करना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर हमने कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया तो देश में एक बार फिर मामले बढ़ेंगे और यह फिर उसे रोकना कठिन हो जाता है.लव अग्रवाल ने प्रेस कॉंन्फ्रेंस में कहा कि बांग्लादेश, यूके, रुस और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में कोरोना के मामले एक बार फिर बढ़े हैं जिसकी वजह से वहां एक बार फिर प्रतिबंध लागू करने पड़े हैं. उन्होंने यह भी बताया कि नौ जुलाई तक देश में 36.9 करोड़ कोरोना वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है. 1.76 करोड़ हेल्थवकर्स को वैक्सीन दिया गया है जबकि 2.74 करोड़ फ्रंटलाइन वकर्स को वैक्सीन दिया गया है. 45 साल से ज्यादा के लोगों को 21.21 करोड़ डोज दिया गया है जबकि 18-44 साल के लोगों को 11.19 करोड़ डोज दिया गया है.नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि कोरोना वायरस के Lambda वैरिएंट पर हमारी नजर है और इससे हमें सावधान रहने की ज़रूरत है .अभी तक इस बात के कोई सबूत नहीं मिले है कि यह वैरिएंट भारत में मौजूद है या नही लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है.

News by Kriti kumari