लालू यादव को मिली बड़ी राहत

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को मिली बड़ी राहत। आपको बता दें कि जिन चार मामलों में लालू यादव को सजा सुनाई गई थी, उनमें तीन मामलों में हाई कोर्ट ने उन्हें आधि सजा काटने के आधार पर जमानत दी थी। हाई कोर्ट का फैसला आते ही बिहार के हर जिलों में एवं अन्य राज्यों में इनके समर्थकों के बीच में खुशी की लहर दौड़ गई ,पटना राजद कार्यालय एवं लालू आवास पर समर्थकों ने मिठाइयां बाटी और जश्न भी मनाया वहीं दूसरी तरफ दुमका कोषागार अवैध मामले में उनकी आखिरी सुनवाई होनी थी। दुमका कोषागार मामले में भी उन्होंने आधी सजा काटने के बीनाम पर रिहाई मांगी थी, जिसकी सुनवाई चलती रही, सुनवाई की तारीख बढ़ाने के बाद मे उन्हें बहुत सारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा। उन्हें केली बंगले से रांची के रिम्स में शिफ्ट कर दिया गया था, और उनके ऑडियो वायरल की वजह से उनकी सुरक्षा भी त्रिस्तरीय कर दी गई थी। अब तमाम कठिनाइयों के बाद रांची हाई कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को जमानत दे दी है। जमानत याचिका सुनाते हुए रांची हाई कोर्ट ने आदेश दिया कि लालू यादव को जुर्माने में 10 लाख रुपए जमा करना होगा साथ ही एक लाख का बॉन्ड भी देना होगा। इसके अलावा उन्हें विदेश से बाहर जाने और अपना पता और मोबाइल नंबर बदलने की अनुमति नहीं दी गई है। पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को आधी सजा काटने के बिनाम पर जमानत मिल चुकी है, जिससे उन्हें और उनके प्रिय जनों को बड़ी राहत मिली है। फिलहाल लालू प्रसाद अभी पटना नहीं आएंगे। उनके परिवार जनों का कहना है कि उनकी तबीयत लगातार खराब रहने के कारण और कोरोना की बढ़ती लहर को देखते हुए उन्हें दिल्ली में ही रहने की सलाह दी गई है। उनके परिवार का कहना है कि उनके पटना आने से प्रिय जनों की भीड़ लग सकती है जिससे लोगों में संक्रमण फैलने का डर रहेगा। आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री अभी दिल्ली में अपनी बेटी एवं राजद की राज्यसभा सांसद मीसा भारती के सरकारी आवास में रहेंगे। वहां उनके लिए हर सुरक्षा और सरकारी व्यवस्था की सुविधा की जा रही है कोरोनावायरस जब तक नहीं टल जाता है तब तक लालू प्रसाद यादव दिल्ली में ही रहेंगे। यानी उनके प्रिय जनों को उनसे मिलने के लिए कोरोनावायरस के टलने तक का इंतजार करना होगा।