लालू पर सुशील मोदी का नया वार, राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनाने का बताया कारण

लालू यादव और राजद पर अक्‍सर सख्‍त टिप्‍पणियां करने वाले पूर्व उप मुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने रविवार को लालू प्रसाद यादव पे नया वार किया करते हुए उन्होंने कहा कि राबड़ी देवी को बिहार के मुख्‍यमंत्री पद पर परिवार को सत्‍ता में बनाए रखने के लिए बिठाया गया था न की महिला होने के नाते । उन्‍होंने एक ट्वीट के लिए यह हमला बोला।सुशील मोदी ने कहा कि राबड़ी देवी के द्वारा बिहार के बेटियों और महिलाओ के लिए की बड़ा काम नही किया गया है और न ही उन्हें महिला होने का सम्मान देने के लिए मुख्यमंत्री बनवाया गया था । रविवार को ट्वीट कर सुशील मोदी ने लालु प्रसाद यादव पे आरोप लगाया है कि 25 जुलाई 1997 को राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनाकर लालू प्रसाद द्वारा संवैधानिक व्यवस्था में सेंधमारी की गयी थी। उन्‍होंने यह भी कहा कि उनके बाद आई एनडीए सरकार ने महिलाओं को पंचायत चुनाव में 50 फीसद आरक्षण और स्कूली छात्राओं को साइकिल-पोशाक योजना का लाभ दिया। और उनके द्वारा कुछ बिहार की बेटियों और महीलाओं के लिये कुछ नही किया गया था। सुशील मोदी लालु प्रसाद यादव पर निसाना साधते हुए कहा की जिन लोगों ने बिहार को ऐसा कुशासन दिया, वे आज राज्य की लगातार काम करने वाली एनडीए सरकार पर बेतुके आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद ने चारा घोटाले में जेल जाने की नौबत आने पर सत्ता को परिवार से बाहर जाने से बचाने के पत्नी राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनवाया था। और ऐसा निर्णय उनके द्वारा इसलिए लिया गया क्योंकि उस समय उनके बच्चे छोटे थे और उन्हें सीएम पद के लिए पार्टी के किसी सीनियर नेता पर भरोसा नहीं था। वही सुशील मोदी ने राबड़ी देवी के शासन काल को बिहार का काला दौर बताते हुए कहा की – वह काला दौर था। जब मुख्यमंत्री ना ऑफिस आती थीं, न कैबिनेट की नियमित बैठकें होती थीं। और इतना ही नही विधानसभा में मुख्यमंत्री डेढ़-दो मिनट से ज्यादा बोल नहीं पाती थीं। जिन लोगों ने बिहार को ऐसा कुशासन दिया, उनके द्वारा आज राज्य की लगातार काम करने वाली एनडीए सरकार पर बेतुके आरोप लगाये जा रहे है।

News by Pragya Kumari