मध्य प्रदेश – वीडियो गेम ने ले ली 5वि क्लास के बच्चे की जान ।

मध्य प्रदेश के भोपाल में हुई ये घटना । पांचवी कक्षा में पढ़ रहे बचे ने फांसी लगाकर खुद की जान ले ली 3 महिले पहले भी की थी कोशिश। बेटे के मौत की खबर से माता पिता बहुत परेशान है ।

बता दे की बच्चे की उमर मात्र 11 वर्ष थी । माता पिता का कहना है की बच्चे को (फ्री फायर गेम ) की लत लग गई थी । वह मोबाइल के साथ साथ टीवी पर भी इसे खेलता रहता था । माता पिता ने पुलिस को बताया की बच्चे में इस कदर गेम के प्रति रुचि बढ़ गई थी के वह इस गेम की फाइटर ड्रेस खुद ही ऑनलाइन मंगवाई थी । पुलिस को मौके पर किसी तरह सुसाइड नोट नही मिला ।

बच्चे के पिता शंकराचार्य नगर बजरिया में रहने वाले योगेश ओझा ऑप्टिकल नामक दुकान चलाते है। सूर्यांश उनका इकलौता बेटा था । वह सेंट जेवियर्स स्कूल अवधपुरी में पांचवी क्लास का स्टूडेंट था । बुधवार को सूर्यांश अपने चचेरे भाई आयुष के साथ खेल रहा था तभी आयुष नीचे कुछ काम से गया । थोड़ी देर जब कोई आहट न मिलने पर जब उसे पुकारने तीसरी मंजिल पर गए तो वह सूर्यांश को बॉक्सिंग रिंग के फंदे से लटका पड़ा पाते है।

बता दे की अस्पताल ले जाने से पहले ही सूर्यांश की मौत हो चुकी थी । सूर्यांश को जब ऐसी हालत में पाया गया तो परिजनों ने फौरन अस्पताल का रुख किया। लेकिन डॉक्टर ने उसे चेक करते ही मृत घोषित कर दिया।

सूर्यांश के पिता का कहना है की सूर्यांश दिन भर उस फायर फ्री गेम को खेलता रहता था हम उसे मना भी करते थे तो वह हमारी नही सुनता था उस गेम की लत ने उसे आदि बना दिया था । पुलिस का कहना है की वह मोबाइल के जरिए सुराग धूढेगी जिससे उन्हे ये बात पता चले की उस गेम ने उसे टारगेट तो नही दिया गया।

Fayequa