बिहार में नल जल योजना के तहत मरम्मत की समय सीमा तय कर दी गई है, दोबारा कनेक्शन के लिए देने होंगे 300 रुपये.

राज्य में सात निश्चय पार्ट टू के तहत मुख्यमंत्री हर घर नल का जल योजना से जुड़े लोगों को एक जुलाई से हर महीना 30 रुपये देने होंगे. पीएचइडी और पंचायती राज विभाग के माध्यम से एक करोड़ 73 लाख से अधिक परिवारों को जुलाई से नल के जल के लिए शुल्क देना होगा .पीएचइडी ने इस संबंध में अधिसूचना जारी की है, दोबारा कनेक्शन लेने के लिए 300 रुपये देने होंगे.योजना के तहत एक करोड़ 83 लाख परिवारों को शुद्ध पानी पहुंचाने का लक्ष्य बनाया गया है. नयी पॉलिसी के तहत लाभुक को प्रति माह 30 रुपये देने होंगे.अगर कोई राशि नहीं देता है, तो वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति संबंधित उपभोक्ता को नोटिस भेजगी और नोटिस भेजने के 15 दिनों के बाद भी लाभुक शुल्क देने में संकोच करेंगे, तो उनका कनेक्शन काट दिया जायेगा. वहीं, जब दोबारा कनेक्क्शन के लिए वार्ड क्रियान्वयन समिति एवं प्रबंधन समिति की अनुशंसा जरूरी होगी.मरम्मत की समय सीमा तय की गई:साधारण लीकेज को 12 से 24 घंटे और असाधारण लीकेज को तीन से पांच दिनों में ठीक किया जाएगा.मोटर पंप में खराबी 24 घंटे में ठीक की जाएगी . वहीं, एक अलग से मोटर भी रखना होगा.साधारण मरम्मत 24 घंटे में करनी होगी.स्टैंड पोस्ट की मरम्मत को 24 घंटे में करनी है.जल मीनार की सफाई 15 दिनों पर करनी है.पानी की गुणवत्ता की जांच तीन दिनों पर होनी है.पानी की चोरी करने पर पांच हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जाएगाकोई भी व्यक्ति पानी चोरी करते हुए पकड़ा जाएगा ,पंप लगाते हुए या बीच में पानी के धार को बदलता है तो उनसे पाँच हजार का जुर्माना लिया जाएगा और साथ हीं संपत्ति भी ज़ब्त की जा सकती है.

News by Pragya Kumari