बिहार में कोरोना का प्रहार

बिहार झारखंड समेत कई राज्यों में कोरोना ने अपना पैर तेजी से पसार लिया है। बात करें बिहार की तो अब तक के सभी आंकड़ों को तोड़ते हुए कोरोनावायरस में 24 घंटे में ५१ मरीजो कि जान चली गई है। जिसमे सबसे अधिक पटना में NMCH में 8 मरीजो कि मौत हुई है, वही PMCH में 6 और पटना AIIMS में 3 लोगो की जान गई है। बिहार में पिछले २५ घंटे में 7487 नए positive केस मीले है। जिसमे सबसे अधिक पटना में 2672 केसेस मिले हैं, जिससे राज्य मे कूल एक्टिव केस की संख्या 49527 तक पहुँच गई है। बिहार में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट घटकर 84.52 पर आ गई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नए गाइडलाइन के साथ नाइट कर्फ्यू लगाने का आदेश भी दिया है ,जिसमें रात 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा रहेगा। हालाकी नाइट कर्फ्यू में बेवजह पब्लिक मूवमेंट को रोकने के लिए पटना के एसएसपी और पुलिस अधिकारी सड़क पर भी उतरे। आपको बता दे की कोरोना के बढ़ते संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जारी गाइडलाइंस को फॉलो करना अति आवश्यक है, साथ ही मास्क, सैनिटाइजर का उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग पर अत्यधिक ध्यान देने की जरूरत है। हमें कोशिश करनी चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा घर में रहे बेवजह बाहर ना निकला जाए। आपके लिए यह करना और जानना जरूरी हो जाता है जब आसपास की स्थिति इतनी गंभीर दिखाई दे रही हो। आपको बता दें कि हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी और टेस्ट रिपोर्ट लेट से आने के कारण मौत के आंकड़े बढ़ती दिखाई दे रहे हैं। पिछले साल की तुलना में राज्य में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। यही नहीं थोड़े से बुखार के बाद ऑक्सीजन लेवल कम होने में ज्यादा वक्त नहीं ले रहा है, जिससे जाने जा रही है इसीलिए हमें स्टे होम स्टे सेफ को लागू करना ही उचित है।