बिहार: मुख्यमंत्री नीतीश बोले- कोरोना रोकने में लॉकडाउन प्रभावी साबित हो रहा

बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन 25 मई तक बढ़ा दिया है, लॉकडाउन बढ़ाने पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में लागू पाबंदियों के सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। लिहाजा इसे 10 दिन के लिए और बढ़ाया जा रहा है। लॉकडाउन से राज्य में संकमण दर घटा है और मरीजों की ठीक होने की दर बढ़ी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई हम सबको मिलकर लड़नी है, क्योंकि कोरोना की लड़ाई अकेले सरकार नहीं लड़ सकती, इसमें समाज का योगदान जरूरी है। हम सब कोरोना नियमों का पालन करते हुए संक्रमण की चेन तोड़ने में मदद करें। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर को हम सबने मिलकर हराया था और इस लहर को भी हम फिर से हराएंगे। आप सभी से अपील है कि अपना हौसला बनाए रखिए और जीत जरूर मिलेगी। बिहार में कोरोना की बेकाबू रफ्तार को थामने में लॉकडाउन काफी हद तक मददगार साबित हो रहा है। लॉकडाउन के बाद कोरोना के नए मरीजों की तादाद और संक्रमण दर घटी है साथ ही कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट बढ़ा है, बिहार में लॉकडाउन का असर दिख रहा है, कोरोना मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है।बुधवार को 9 हजार 863 कोरोना संक्रमित मरीज मिले जिनमें 74 मरीजों की कोरोना से मौत हुई, बिहार में सबसे ज्यादा 977 कोरोना के मरीज राजधानी पटना में सामने आए हैं, बिहार में अब तक कोरोना से 3 हजार 503 लोगों की मौत हो चुकी है, बिहार में संक्रमण से ज्यादा रिकवरी रेट हो गया है पिछले 24 घंटे में 12 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हुए हैं बिहार में लॉकडाउन लगने के बाद एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख से नीचे आ गई है लॉकउाउन के बाद कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई है, इसलिए जिंदगी बचाने के लिए 10 दिन के लिए यानि 25 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया गया है।

News by Ritika Kumari