जाली एप बनाकर पैसे डबल करने के बहाने ठगे ढाई सौ करोड़,रॉ, आईबी, ईडी तक पहुंचा मामला

साइबर क्राइम के मामले में उत्तराखंड पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है। इसने एक ऐप बनाकर पैसे डबल करने के नाम पर ढाई सौ करोड़ की धोखाधड़ी की है। पकड़े गए शख्स का नाम पवन कुमार पांडे बताया जा रहा है, इस शख्स ने ढाई सौ करोड़ पैसे को क्रिप्टो करेंसी में बदल कर धोखाधड़ी की है। पावर बैंक के नाम से एक ऐप बनाया गया था और इस ऐप के जरिए सिर्फ 4 महीने में ढाई सौ करोड़ की धोखाधड़ी की गई है, सूत्रों के अनुसार इस ऐप को बनाने में विदेशी हाथ के होने का संदेह माना जा रहा है बताया जा रहा है कि इस ऐप को चाइना की एक स्टार्टअप योजना के अंतर्गत बनाया गया था।इस ऐप के जरिए 15 दिनों में पैसे डबल करने का लालच दिया गया और इसी लालच में पड़कर लगभग 50 लाख लोग इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं, और इसी लालच में पड़कर कई लोगों ने इस ऐप के जरिए निवेश भी किया और ठग लिए गए, लगभग 4 महीने से चल रहे इस ठगी से ढाई सौ करोड़ रुपए ठगे गए, जिसकी खबर पुलिस को भी नहीं लगी।उत्तराखंड एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह के अनुसार पावर बैंक ऐप के जरिए जो रुपए ठगे गए उन रुपए को क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से विदेशों में भेजा गया। एसएसपी अजय सिंह के अनुसार लगभग 20 शिकायतें की गई इस धोखाधड़ी के खिलाफ इसके बाद उत्तराखंड पुलिस ने जांच शुरू की तो उन्हें धोखाधड़ी के बड़े मामले का पता चला।ठगी गई राशि को अलग-अलग बैंक खातों में अलग-अलग पेमेंट गेटवे के जरिए भेजा जा रहा था, इस मामले में विदेशी हाथ होने का संदेह मानते हुए उत्तराखंड पुलिस ने इस केस की जानकारी भारतीय खुफिया ब्यूरो के साथ भी साझा किया है और मदद नहीं मांगी गई है।

News by Manish Kumar