कोरोना न्यू गाइडलाइन

आपको बता दें कि बिहार में कोरोना की लहर तेजी से बढ़ रही है। बिहार में कुल 3,24,117 केस है वही पिछले 14 दिनों में कोरोना के 55,540 केस सामने आए हैं, वही 17,49 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। आपको बता दे कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए राज्यपाल ने शनिवार को सभी पार्टियों की बैठक बुलाई थी, इस बैठक में सभी दलों को कोरोना के लिए किए जा रहे कामों की जानकारी दी गई। जिससे सभी दलों के उपयोगी सुझाव पर निर्णय लिया गया। इसके बाद रविवार को भी सभी जिलों के डीएम की बैठक की गई सारी जानकारी के बाद ही नीतीश कुमार ने कहा था कि कोरोना प्रतिदिन बढ़ रहा है, इसे देखते हुए चर्चा की जाएगी उन्होंने लॉकडाउन लगाने के सवाल पर कहा था कि सभी पहलुओं को देखते हुए ही कुछ निर्णय लिया जाएगा। कोरोना की स्थिति देखते हुए सरकार हर विकल्प पर विचार करेगी। हर वह कदम उठाया जाएगा जो उचित और व्यवहारिक हो। सभी दलों के बैठक और निर्णय के बाद रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने बताया कि सभी लोगों से राय लेने के बाद कुछ निर्णय लिए गए हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पिछली बार की तरह कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा जिसमें लोगों के उपचार के लिए पूरी व्यवस्था की जाएगी RTPCR टेस्ट की संख्या भी बढ़ाई जाएगी साथ ही कोविड केयर सेंटर, कोविड हेल्थ सेंटर, में पर्याप्त दवा और ऑक्सीजन की संख्या बढ़ाई जाएगी। होम क्वॉरेंटाइन हुए लोगों की भी लगातार जांच की जाएगी साथ ही एंबुलेंस की व्यवस्था भी बढ़ाई जाएगी। इसके बाद उन्होंने कहा कि बाहर में रह रहे लोगों को वापस आने की सलाह है ,मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने कहा कि जो भी लोग बाहर रह रहे हैं, वह जल्द से जल्द वापस आ जाएं। उन्होंने बताया कि स्कूल ,कॉलेज एवं सभी शैक्षणिक संस्थान अब 15 मई तक बंद कर दिया गया है| साथ ही कोई भी परीक्षा विश्वविद्यालयों द्वारा नहीं ली जाएगी, साथ ही सिनेमाघर ,मॉल्स , पार्क एवं उद्यान भी 15 मई तक बंद रहेंगे उसके बाद सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय को 5:00 बजे तक बंद करने का निर्णय लिया गया, वही रोज रात्रि 9:00 से सुबह 5:00 तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा ,सभी दुकानों को 6:00 बजे तक बंद करने का निर्णय लिया गया ,धार्मिक स्थल भी 15 मई तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है, शादी एवं दाह संस्कार के लिए यह सब लागू नहीं किया गया है, विवाह समारोह में 100 एवं दाह संस्कारों में 25 लोगों को ही शामिल करने की सलाह दी गई है| कोरोना की बढ़ती स्थिति को देखते हुए सभी जिलों के निर्णय से शेड्यूल जारी किए गए हैं| जिस पर पूरी नजर रखी जाएगी| 15 मई तक के लिए यह निर्णय लिया गया है।