ओमिक्रॉन का खतरा: सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए 7 दिन का होम क्वारंटाइन जरूरी, नए नियम जारी |

देश में COVID-19 मामलों में वृद्धि के बीच, सरकार ने सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए नियम जारी किए हैं। इसके मुताबिक अब से आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को 7 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुजरना होगा। इसके बाद आठवें दिन RTPCR टेस्ट किया जाएगा। नए सरकारी सर्कुलर में कहा गया है कि नई मानक संचालन प्रक्रिया 11 जनवरी, 2022 से अगले आदेश तक मान्य होगी।

दरअसल कोरोना के जितने मामले सामने आ रहे हैं उनमें ज्यादातर ऐसे हैं जो हाल ही में विदेश की यात्रा कर लौटे हैं. ऐसे में कोरोना के मामलों पर ब्रेक लगाने के लिए सरकार की ओर से ये फैसला लिया गया है. जारी आदेश के मुताबिक भारत की यात्रा करने की योजना बना रहे सभी लोगों को पहले ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल पर सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म में पूरी और तथ्यात्मक जानकारी देनी होगी.

COVID-19 मामलों की खतरनाक वृद्धि के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने प्रोटोकॉल की समीक्षा करते ही अब सलाह दी है कि कोरोना से मरीज भले ही 7 दिन में ठीक हो जाएं लेकिन कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों को अभी भी 14-दिवसीय क्वारंटाइन जरूर रहना चाहिए। स्वास्थ्य एजेंसी WHO ने कहा कि भले ही लगभग सभी संक्रमित लोग लक्षणों की शुरुआत के पांच से सात दिनों के भीतर कोविड​​​​-19 से ठीक हो जाते हैं, फिर भी उन्हें 14 दिन क्वारंटाइन रहने की सिफारिश की जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अधिकारी ने को यह जानकारी दी।

नए सर्कुलर के अनुसार, भारत की यात्रा करने के इच्छा रखने वाले लोगों को ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल https://www.newdelhiairport.in/airsuvidha/apho-registration. पर सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म में पूरी और तथ्यात्मक जानकारी देनी होगी।

उन्हें यात्रा शुरू करने से 72 घंटे के भीतर की एक COVID-19 नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट भी अपलोड करनी होगी। दूसरी डिटेल के अलावा, जिन यात्रियों को अराइवल पर टेस्ट की जरूरत है, उन्हें एयर सुविधा पोर्टल पर टेस्ट की ऑनलाइन प्री-बुकिंग करनी चाहिए।

इसके अलावा नए दिशानिर्देशों के अनुसार, पिछले 14 दिनों के यात्रा विवरण सहित यात्रियों को उनकी निर्धारित यात्रा से पहले ऑनलाइन हवाई सुविधा पोर्टल पर एक स्व-घोषणा पत्र में पूर्ण और तथ्यात्मक जानकारी जमा करनी होगी।

Fayequa