Home देश एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री के द्वारा जनता दरबार की शुरुआत-

एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री के द्वारा जनता दरबार की शुरुआत-

एक बार फिर काफी लंबे समय के अंतराल के बाद मुख्यमंत्री कार्यक्रम जनता दरबार की शुरुआत 12 जुली से की जा रही। यह कार्यक्रम हर सोमवार को आयोजित किया जायेगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सूचना देते हुए कहा की 12 जुलाई से वह एक बार फिर जनता दरबार लगायेंगे। जनता दरबार में आने वालों के लिए जिलों से आने की व्यवस्था की जायेगी। मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कहा कि कोरोना को ध्यान में रखते हुए नियम बनाने का निर्देश दिया गया है।सीएम ने यह भी कहा कि पहले के दो कार्यकालों में जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम का आयोजन होता रहा था। परंतु 2016 में लोक शिकायत निवारण कानून लागू होने के बाद जाना दरबार को बंद कर दिया गया। पर अब फिर से लोगो के लिए इसे शुरू किया जायेगा। परंतु कोरोना के कारण इस कार्यक्रम की शुरुआत नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा की अब पहले की तरह ही महीने के तीन सोमवार को इस कार्यक्रम को शुरू किया जायेगा। मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण ने जनता के दरबार में मुख्यमंत्री के आयोजन को लेकर मंगलवार को सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, प्रमंडलीय आयुक्तों और डीएम के साथ कार्यक्रम की रूपरेखा पर समीक्षा की। जनता दरबार में आनेवाले फरियादियों के लिए कुछ नियम बनाये गए है जो की आवश्यक होगा । जाना दरबार में आने वाले लोगो का आरटीपीसीआर टेस्ट के साथ कोरोना का टीकाकरण कराना आवश्यक होगा। और इसकी जिम्मेदारी सभी डीएम को सौंपी गयी है। मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा प्राप्त आवेदनों को डीएम को भेज दिया जायेगा। जिसे बाद डीएम आवेदकों को चिह्नित कर उनकी आरटीपीसीआर जांच और टीकाकरण सुनिश्चित कराया जायेगा। राजधानी पटना से दूर स्थित वाले जिलों को यह भी निर्देश दिया गया है कि वह जनता दरबार के आवदेकों को एक दिन पहले पटना के निकट के जिलों में भेज दिया जाए। और वहां पर उन आवेदको की रहने की व्यवस्था को जायेगी। और वैसे आवेदक जो अपने जिलो से जिन जिलो से एक दिन में आ सकते हैं, वैसे आवेदक सीधे जनता दरबार में पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री ने स्वयं सचिवालय पहुँच कर जनता दरबार का निरीक्षण लिया ताकि जंता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम की तैयारी शि से हो सके। साथ ही साथ कार्यक्रम को सही तरीके से संचालित करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिया गए है।इधर मंगलवार को मुख्य सचिव त्रिपुरारि शरण ने आलाधिकारियों के समक्ष वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पूरे आयोजन की रूपरेखा रखी है। वही बैठक में भाग लेने वाले, सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव, डीजीपी व मुख्यमंत्री सचिवालय के प्रधान सचिव और अन्य अधिकारि है। जिलों से बैठक में डीएम, प्रमंडलीय आयुक्त, आइजी, डीआइजी और एसपी भी शामिल हुए. मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि कोरोना के मद्देनजर इस कार्यक्रम के संचालन के लिए संचालन प्रक्रिया विकसित की गयी है। वही उन्होंने यह भी कहा की कोरोना के निर्धारित प्रोटोकाल का कार्यक्रम के दौरान पालन किया जाए और इसका विशेष ख्याल रखा जाये।इससे पहले सोमवार को मंत्रिमंडल सचिवालय की तरफ से जनता दरबार में मुख्यमंत्री के आयोजन को लेकर जिलों को पत्र भी जारी करवाई गयी थी। जिसमे पत्र में छह जुलाई की बैठक का भी हवाला दिया गया था।

News by Pragya Kumari